englishkitab
An easy Way to learn English
Englishkitab >> Learning Course >> ELC-17th Day >> ELC-17th Day-P3



ELC-17th Day

Imperative Sentences Vs Other Type of Sentences

Interrogative Imperative Sentence:- Interrogative Imperative Sentences क्रिया रूप के साथ शुरू होते हैं और प्रश्न चिह्न के साथ समाप्त होते हैं, जिसका अर्थ वाक्य में अनुरोध पर जोर देना है।
Interrogative Imperative Sentences begin with the verb form and end with a question mark, which is meant to emphasize the request in the sentence.
मेरे बेटे को सूचित करें। क्या आप करेंगे? Inform my son. Will you?
Exclamatory Sentence:- Exclamatory वाक्य उस तरीके पर निर्भर करते हैं जिसमें व कहे जाते हैं। प्रभावशाली आवाज लगने के लिए, अधिक महत्व दिखाने के लिए अंत में एक प्रशंसा चिह्न का उपयोग किया जाता है।
Exclamatory sentences depend on the way they are said. To sound forceful or to show strong emphasis an exclamation mark is used in the end.
अभी सूचित करें! Inform now!

Imperatives and Advertisements

Imperatives का उपयोग वाणिज्यिक और सामाजिक दोनों विज्ञापनों में एक गहरा प्रभाव पैदा करने के लिए किया जाता है।

Imperatives are used in advertisements, both commercial and social, to create a deeper impact.

Social Advertisement रूको आगे ख़तरा है। Stop Danger ahead.
Social Advertisement लड़की को बचाओ। Save the girl child.
Social Advertisement शराब पीकर ड्राइव न करें Don't drink and drive.
Commercial Advertisement बस इसे कर दो। Just do It.
Commercial Advertisement अलग सोचो। Think Different.
Commercial Advertisement अपनी प्यास की मानो। Obey your thirst.

Look at the examples:

सुबह पाँच बजे उठो। Get up at 5 O'clock.
बेंच पर खड़े हो जाओ। Stand up on the bench.
फर्श पर मत बैठो। Don't sit on the floor.
जेब में रूमाल रखो। Keep hanky in pocket.
पांच बजे से पहले ऑफिस मत छोड़ो। Don't leave the office before five o'clock.
पंखा चालू करो। Switch on the fan.
उसे मेरे पास लाओ। Bring her to me.


Page Links : See >> Current Page ELC-17th Day-P3 >> Next Page

1 2 3 4 5 6 7
8 9 10 11 12 13

Links to English Learning Course Lessons (ELC) ...Click to View/Hide


 
Home : Sitemap : Privacy : Feedback

All Rights are reserved.