englishkitab
An easy Way to learn English
Englishkitab >> Day To Day English >> DTDE >> DTDE-19-P5



DTDE-19

Hindi-English Sentences used in Daily Conversation

ये सामान्य वाक्य हैं जिनका उपयोग हम अपनी दैनिक बातचीत में करते हैं। कृपया उन्हें बारंबार पढ़ें, उन्हें समझने की कोशिश करें और अपनी दैनिक बातचीत में उनका उपयोग करें।

These are the common sentences that we use in our daily conversations. Please read them again & again, try to understand them and use them in your daily conversations.

भगवान शिव ने पुनः अपनी अभिलाषा बताने को कहा । Lord Shiva again asked him to tell his wish.
गरीब आदमी ने हाथ जोड़े और विनीत भाव से बोला, "मैं बहुत अनुग्रहित हुआ की आपने मेरी प्रार्थना स्वीकार की और मुझे अपने दर्शन का आशीर्वाद दिया । कृपा करके मुझे एक वरदान दे की मैं अपने पोते को सोने की चम्मच से खाना खाता हुआ देख सकूं ।" The poor man folded his hands and said in a humble way. "I am deeply obliged that you have accepted my prayer and blessed me with your Darshan. Kindly grant me a boon that I should be able to see my grandson eating with a gold spoon."
भगवान शिव ने माँ पार्वती की और देखा, उनके मुख पर ममतामयी मुस्कान थी । भगवान शिव ने कहा, "तथास्तु" और अंतर्ध्यान हो गये । Lord Shiva looked at Maa Parvati, and she had a motherly smile on her face. Lord Shiva said, 'Tathastu" (Amen) and disappeared.
बुद्धिमान गरीब व्यक्ति ने अपनी तीनों इच्छाओं (दृष्टी, पैसा और बालक) और अपने बेटे की समृद्धि एक वरदान में प्राप्त कर ली थी । The Intelligent poor man had got all his three wishes (vision, money and child) and wealth of his son in one wish.
शिक्षा आपको जिंदगी में अवसरों का अनुकूलतम लाभ लेने में मदद करती है । Literacy helps you to make optimum use of opportunities in life.
आइये हम एक लक्ष्य के लिये काम करें - सभी को शिक्षा । Let's work for a mission - Literacy To All.
हम अपने तरीके से अशिक्षा को जड़ से खात्मा करने का लगातार प्रयास करेंगे । We will continuously try to eradicate illiteracy in our own way.
तुम अवश्य इसके लिये कार्य करोगे, नही क्या? You will surely work for it, won't you?

Page Links : See >> Current Page DTDE-19-P5 >> DTDE-20

1st 2nd 3rd 4th 5th


 
Home : Sitemap : Privacy : Feedback

All Rights are reserved.